Home Loan Tips | होम लोन लेते समय सिर्फ इन 5 बातों को जरूर ध्यान रखे, फायदे में रहेंगे

Home Loan Tips

Home Loan Tips | हर किसी की जरूरत है कि उसके पास अपना घर हो। हालांकि, पिछले कुछ वर्षों में, ऐसी संपत्तियों की कीमतों ने इस अंतर को प्रभावित किया है। ऐसे में आम आदमी के लिए अपनी आय पर घर खरीदना आसान नहीं है। इसी वजह से आज के समय में ज्यादा से ज्यादा लोग होम लोन की मदद से अपने घर के सपने को पूरा करते हैं। लेकिन होम लोन लेने से पहले सिर्फ ब्याज दर को देखना ही काफी नहीं है। और भी कई बातें हैं जिन्हें समझने की जरूरत है। अगर आप भी होम लोन लेने की सोच रहे हैं तो होम लोन से जुड़ी कुछ खास बातें जरूर जान लें।

लोन लेने से पहले चेक करें अपनी वित्तीय स्थिति
होम लोन लेने से पहले आपको थोड़ा डाउन पेमेंट भी करना होगा। यह संपत्ति के कुल मूल्य का 10 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक हो सकता है। साथ ही लोन निकालने के बाद आपकी मासिक किस्त हर महीने शुरू हो जाएगी, जो लंबे समय तक चलेगी। ऐसे में आपको अपनी आर्थिक स्थिति पर एक नजर डालनी चाहिए। ताकि बाद में आपको किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

लोन की रकम तय करें
लोन लेने से पहले सभी जरूरतों और दायित्वों को ध्यान में रखें और कैलकुलेशन करें कि आप कितना प्रीमियम आसानी से भर सकते हैं। इसके बाद ही तय करें कि आप कितना उधार लेना चाहते हैं। सरल नियम यह है कि आपकी EMI आपके वेतन के 40% से अधिक नहीं होनी चाहिए।

लोन फीचर्स की तुलना करें
उधार लेते समय आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए। इससे आपकी विश्वसनीयता बढ़ती है और लोन मंजूर होने की संभावना बढ़ जाती है। ज्यादातर समय अच्छे क्रेडिट स्कोर पर अच्छी ब्याज दरों पर लोन भी मिल जाता है। इसके अलावा अलग-अलग बैंकों की ब्याज दरों, लोन अमाउंट, एलटीवी रेश्यो, लोन की अवधि और प्रोसेसिंग फीस में भी अंतर है। ऐसे में होम लोन के लिए अप्लाई करने से पहले बैंकों के लोन फीचर्स की तुलना कर लें, फिर लोन के लिए अप्लाई करें।

अधिक डाउन पेमेंट का भुगतान करने के फायदे
अगर आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी है, तो होम लोन के लिए अधिक डाउन पेमेंट करें। इससे आपको लोन मंजूर होने की संभावना बढ़ जाती है। कुछ ऋणदाता उन उधारकर्ताओं को कम ब्याज दरों की पेशकश करते हैं जो कम एलटीवी अनुपात चुनते हैं। लेकिन अधिक डाउन पेमेंट करने के लिए अपने इमरजेंसी फंड का इस्तेमाल करने से बचें।

इतना आपातकालीन निधि होनी चाहिए
यदि आप लोन के लिए आवेदन करने जा रहे हैं, तो अपने साथ एक आपातकालीन निधि रखना सुनिश्चित करें। यह आपकी 6 महीने की EMI किस्तों के बराबर होना चाहिए। कई बार नौकरी छूटने या किसी अन्य स्थिति के कारण ईएमआई चुकाना मुश्किल हो जाता है। इससे जुर्माना लग सकता है, साथ ही आपके क्रेडिट स्कोर को भी नुकसान पहुंच सकता है। यहीं से आपका इमरजेंसी फंड काम आता है।

Disclaimer : म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में निवेश जोखिम पर आधारित होता है।  शेयर बाजार में निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह जरूर लें। hindi.Maharashtranama.com किसी भी वित्तीय नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होंगे।

News Title : Home Loan Tips Know Details as on 03 July 2023

अन्य

x
Maharashtranama

महाराष्ट्रनामा से पाएं ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट्स.

लगातार पाएं दिनभर की बड़ी खबरें. आप Bell पर क्लिक करके सेटिंग मैनेज भी कर सकते हैं.

x

Notification Settings

Select categories to receive notifications you like.