Home Loan Interest | बढ़ेगी आपके लोन की EMI, ब्याज दरें बढ़ने की संभावना, इस हफ्ते होगा बड़ा फैसला

Home Loan Interest

Home Loan Interest | जल्द ही आम आदमी पर एक और महंगाई की मार पड़ने की आशंका है। इसकी वजह यह है कि कर्ज लेने वाले के लोन की EMIमें बढ़ोतरी की संभावना है। साथ ही होम लोन, पर्सनल लोन, कार लोन समेत सभी तरह के लोन पर ब्याज दरें बढ़ सकती हैं। भारतीय रिजर्व बैंक  अगले सप्ताह अपनी वित्तीय समीक्षा में रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की और वृद्धि करने का फैसला कर सकता है। खुदरा मुद्रास्फीति के संतोषजनक 6 प्रतिशत के स्तर से ऊपर बने रहने और अमेरिकी फेडरल रिजर्व सहित कई केंद्रीय बैंकों के आक्रामक रुख के मद्देनजर आरबीआई यह फैसला ले सकता है।

यह आखिरी दर वृद्धि हो सकती है
आरबीआई मई 2022 से लगातार ब्याज दरें बढ़ा रहा है। इस समीक्षा के बाद दरों में वृद्धि अंतिम होने की संभावना है। रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की द्विमासिक समीक्षा बैठक तीन अप्रैल से शुरू हो रही है। नीतिगत दरों पर फैसला करने के लिए तीन दिन तक चलने वाली बैठक छह अप्रैल को समाप्त होगी।

रेपो रेट 4% से बढ़कर 6.50% हुआ
आरबीआई ने महंगाई पर काबू पाने के लिए मई 2022 से नीतिगत ब्याज दरों में लगातार बढ़ोतरी करने का फैसला किया है। इस बीच रेपो रेट 4 फीसदी से बढ़कर 6.50 फीसदी हो गया है। फरवरी में हुई एमपीसी की बैठक में रेपो रेट में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी।

एमपीसी की बैठक में मौद्रिक नीति से जुड़े सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय पहलुओं की व्यापक समीक्षा के बाद फैसला लिया जाएगा। इस दौरान उच्च मुद्रास्फीति की स्थिति और विकसित देशों के केंद्रीय बैंकों  द्वारा उठाए गए कदमों का भी विश्लेषण किया जाएगा।

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति जनवरी में 6.52 प्रतिशत और फरवरी में 6.44 प्रतिशत थी। खुदरा मुद्रास्फीति का यह स्तर आरबीआई के संतोषजनक स्तर छह प्रतिशत से अधिक है। एक्सिस बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री सौगत भट्टाचार्य ने हाल में संवाददाताओं से कहा था, ‘मुझे उम्मीद है कि एक और अंतिम ब्याज दर में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि होगी।

इसमें 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है
बैंक ऑफ बड़ौदा के चीफ इकनॉमिस्ट मदन सबनवीस ने कहा, ‘पिछले दो महीने से महंगाई दर छह फीसदी से ऊपर बनी हुई है और लिक्विडिटी अब लगभग न्यूट्रल है। उम्मीद की जा रही है कि आरबीआई एक बार फिर रेपो रेट में 0.5 फीसदी की बढ़ोतरी करेगा। इसके साथ ही अपने रुख को न्यूट्रल घोषित कर आरबीआई यह भी संकेत दे सकता है कि रेट ग्रोथ का दौर खत्म हो गया है.’ कुल मिलाकर पूरे वित्त वर्ष 2023-24 में आरबीआई कुल छह एमपीसी बैठकें करेगा. केंद्र सरकार ने आरबीआई को यह सुनिश्चित करने का काम सौंपा है कि खुदरा मुद्रास्फीति 4 प्रतिशत  की सीमा के भीतर बनी रहे।

महत्वपूर्ण: अगर आपको यह लेख/समाचार पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें और अगर आप भविष्य में इस तरह के लेख/समाचार पढ़ना चाहते हैं, तो कृपया नीचे दिए गए ‘फॉलो’ बटन को फॉलो करना न भूलें और महाराष्ट्रनामा की खबरें शेयर करें। शेयर बाजार में निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह अवश्य लें। शेयर खरीदना/बेचना बाजार विशेषज्ञों की सलाह है। म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में निवेश जोखिम पर आधारित है। इसलिए, किसी भी वित्तीय नुकसान के लिए महाराष्ट्रनामा.कॉम जिम्मेदार नहीं होगा।

News Title: Home Loan Interest details on 3 APRIL 2023.

अन्य

x
Maharashtranama

महाराष्ट्रनामा से पाएं ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट्स.

लगातार पाएं दिनभर की बड़ी खबरें. आप Bell पर क्लिक करके सेटिंग मैनेज भी कर सकते हैं.

x

Notification Settings

Select categories to receive notifications you like.