LIC Policy Surrender | अगर LIC पॉलिसी बीच में बंद करते है तो कितना नुकसान होता है? जाने डिटेल्स

LIC Policy Surrender

LIC Policy Surrender | हर कोई उन परिस्थितियों में अपनी बचत से पैसे की व्यवस्था करता है जहां उन्हें जीवन में किसी भी समय पैसे की आवश्यकता हो सकती है। कई लोगों ने बीमा पॉलिसियों और म्यूचुअल फंड में निवेश किया है। कई लोग पैसे की आपात स्थिति में एलआईसी पॉलिसियों को बंद करने का फैसला करते हैं। लेकिन कई एलआईसी पॉलिसियां लॉक-इन अवधि के साथ आती हैं। क्या आप अपनी पॉलिसी को बीच में बंद कर सकते हैं? इसे बंद करने पर आपको कितना पैसा मिलेगा और इससे कितना नुकसान होगा? आइए इसके बारे में जानते हैं।

पॉलिसी कब बंद की जा सकती है?
अगर आप LIC पॉलिसी लेने के 15 दिन के अंदर उसे बंद करना चाहते हैं तो आप इसे आसानी से बंद करा सकते हैं। उसके बाद अगर आप तीन साल बाद पॉलिसी बंद करते हैं तो आपको नुकसान हो सकता है।

क्या होगा अगर यह तीन साल में बंद हो जाता है? LIC Policy Surrender
यदि आप इसे लेने के तीन साल के भीतर अपनी पॉलिसी बंद कर देते हैं, तो आपको भुगतान नहीं मिलेगा। यानी आप जितना ज्यादा प्रीमियम चुकाएंगे, उतना ही ज्यादा पैसा डूब जाएगा।

पॉलिसी कब बंद की जा सकती है?
LIC पॉलिसी में 3 साल की लॉक-इन अवधि होती है। इसलिए आप 3 साल के बाद किसी भी समय अपनी पॉलिसी बंद कर सकते हैं। इसे बंद करने के लिए आपसे कोई पैसा नहीं लिया जाएगा। आप केवल तभी सरेंडर कर सकते हैं जब आपने पूरे 3 साल के लिए एलआईसी के प्रीमियम का भुगतान किया हो।

तीन साल बाद बंद होने पर आपको कितना पैसा मिलेगा?
एलआईसी में काम करने वाली कांता कंडारी के मुताबिक, अगर आप तीन साल बाद अपनी एलआईसी पॉलिसी बंद करते हैं तो आपको अपने प्रीमियम का 75% हिस्सा वापस मिल जाता है। मैच्योरिटी से पहले पॉलिसी बंद करने से ग्राहकों को भारी नुकसान हो सकता है। इसका मूल्य भी कम हो जाता है। इसका मतलब है कि पहले वर्ष में आपके द्वारा भुगतान किया गया प्रीमियम शून्य माना जाएगा।

कुछ कागजी कार्रवाई की आवश्यकता होती है?
एलआईसी पॉलिसी बंद करने के लिए एलआईसी पॉलिसी के बॉन्ड डॉक्यूमेंट, सरेंडर वैल्यू पेमेंट के लिए रिक्वेस्ट, एलआईसी सरेंडर फॉर्म- फॉर्म 5074, एलआईसी एनईएफटी फॉर्म, अपने बैंक अकाउंट की डिटेल, आधार कार्ड, पैन कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक का कैंसल चेक के साथ लिखित में देना होगा।

Disclaimer : म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में निवेश जोखिम पर आधारित होता है।  शेयर बाजार में निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह जरूर लें। hindi.Maharashtranama.com किसी भी वित्तीय नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होंगे।

News Title : LIC Policy Surrender Before Maturity Know Details as on 02 September 2023

अन्य

x
Maharashtranama

महाराष्ट्रनामा से पाएं ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट्स.

लगातार पाएं दिनभर की बड़ी खबरें. आप Bell पर क्लिक करके सेटिंग मैनेज भी कर सकते हैं.

x

Notification Settings

Select categories to receive notifications you like.